पड़ोसन भाभी चुद गई

Discussion in 'Hindi Sex Stories - हिंदी सेक्स कहानियाँ' started by SexStories, Sep 9, 2017.

  1. SexStories

    SexStories Active Member

    MyIndianSexStories

    हेलो दोस्तों, Antarvasna मेरा नाम ध्रुव हे, में अहमदाबाद में रहता हूं. यह मेरी पहली सेक्स कहानी है. मैंने अभी तक काफी सेक्स कहानियां पढ़ी है इस साइट. पर और तभी से मुझे मेरी बाजू वाली भाभी को चोदने का मन हो गया, मेरी उम्र २१ साल है.

    हुआ यूं कि हमारे घर के यहां एक छोटा सा मार्केट है, जहां सब्जी और कपड़ो की शॉप है. वहां पर शाम को काफी लेडीज आती है खरीदी करने के लिए, मैं भी वहां रोज जाया करता हूं खूबसूरत लड़कियों को देखने के लिए.

    एक दिन मेरी नजर एक भाभी पर गई, वह भाभी ने पिंक साड़ी पहनी हुई थी, मार्केट में कुछ खरीद रही थी. वह काफी खूबसूरत थी उसने एक स्लीवलेस ब्लाउज पहना था. मैं जब उसे पहले टाइम देखा तो उसे देखता ही रह गया, उसका फिगर काफी मेंटेन था, उसके बाल भी काफी घने थे. और जो उसके चेहरे पर आते थे, वह उसे हमेशा पीछे करती थी. और उसके बूब्स और गांड ओह माय गॉड.. मेरी नजर उस पर ही थी. उसने उसकी काफी चीजें खरीदी और उसके घर की ओर जाने लगी, मैंने सोचा के घर का पता कर लूं. तो मैंने उस दिन उसका पीछा कर लिया, तो पता चला कि वह बाजू वाले मकान में रहती है और उनका सरनेम जैन था.

    तो मैं रोज मार्केट में उनका इंतजार करने लगा, ऐसे ही एक दिन आया, मैं सोचा कि आज कुछ करते हैं. मार्केट में आने के बाद में उसे घुर रहा था वह जहां जाती उसके पीछे पीछे चला जाता, मुझे बस उसका अटेंशन चाहिए था. काफी देर बाद मैंने वह बना लिया और उसके बाद में उस जगह से चला गया, और दूर जा कर उस पर ध्यान दिया. वह कुछ आसपास देख रही थी मुझे समझ में आया कि मेरा काम अब हो गया है. मैंने अगले दिन ऐसा ही किया. उस दिन वह कुछ सब्जियां ले रही थी सब्जी लेने के बाद वह उसके घर की और निकली, मैंने उसका पीछा करना शुरू किया, कुछ टाइम बाद उस ने उसके हाथों में जो भी सामान की बैग थे वह नीचे रख दिया और इधर उधर देखने लगी.

    मैंने उसकी तरफ देखा और पूछा क्या हुआ? उसने कहा कुछ नहीं. क्या आप मेरी मदद करोगी? मुझे यह बैग मेरे घर तक लेकर जानी है, मेरा घर यहीं पास में है. उसने ऐसा कहते ही मुझे पता चला कि इसे भी कुछ चाहिए, लेकिन कंफर्म नहीं था. मैंने भी एक रिस्पॉन्सिबल पर्सन की तरह बिहेव करते हुए उसे हां जरूर कहा, उसके घर छोड़ दिया उसने मुझे थैंक्यू कहा और मुझे पानी के लिए पूछा.

    मैंने हां कहा काफी प्यास लगी है, उसने मुझे अंदर आने के लिए कहा. मैं काफी खुश हो गया, अंदर कोई और औरत आई और उसने मुझे पानी दिया. वह उनकी काम वाली थी. उसका टाइम हो गया था वह घर जा रही थी. तभी मैंने सोचा कि कुछ इधर उधर की बातें करनि पड़ेगी अगर कुछ करना है तो.. अचानक वह सामने आकर पूछने लगी कि आप क्या करते हो? मैं उसे बताया कि मैं स्टडी करता हूं, यहां मेरे फ्रेंड के साथ रहता हूं. मैंने उसे उसकी फैमिली के बारे में पूछा, उसके पति का बिजनेस है पुणे में. और उसे एक लड़का है ४ साल का.

    उसने मुझे चाय के लिए पूछा और मैंने तुरंत हां कर दिया, जब वह किचन की ओर जा रही थी तब पीछे से काफी सेक्सी लग रही थी. वह डीप कट ब्लाउज साड़ी और ब्लाउज के बीच में गैप और उसकी गांड मस्त उछलते चल रही थी. २ मिनट के बाद वह आई हमने चाय पी और इधर उधर की बातें की. थोड़ी देर हमने एक दूसरे के नंबर एक्सचेंज कर लिए, अपना नंबर दिया और कॉल करने के लिए कहा, उसने उसी टाइम मेरा नंबर डायल किया और कंफर्म कर लिया. मैं तो खुश हो गया क्योंकि उसका नंबर भी मेरे पास आ गया है.

    कुछ हफ्ते बाद संडे के दिन मैंने सोचा कि आज कॉल करते हैं, मैंने उसे इधर-उधर की बातें करना शुरु किया और उसके साथ जोक करने लगा उसे हंसाने लगा, कई बार उसने मेरी तारीफ की. मैं समझ गया कि वह भी मुझे चाहती है, ऐसे ही हम कभी वॉइस कॉल पर बात करने लगे, यह सिलसिला दो महीने तक चला.

    एक दिन जब मैं मार्केट में घूम रहा था, तो मुझे वह अचानक दिखाई दी, वह लाल कलर साड़ी में काफी सेक्सी लग रही थी, जी कर रहा था वही जाकर उसकी गांड जोर से दबा दूं. मैं उसे देख ही रहा था तो वह मेरे सामने आई, और मुझे देख कर स्माइल कर के बोली, कहां जा रहे हो? मैंने कहा कुछ नहीं यही जा रहा हूं. वह उसके घर चली गई और मैं अपने घर.. उसे घर जाने के बाद मैंने उसे मैसेज किया कि आज आप क्या आप के घर पर कुछ इवेंट है क्या? उसने कहा नहीं ऐसा कुछ नहीं है ऐसा क्यों पूछ रहे हो? मैंने कहा आप काफी खूबसूरत लग रही थी आज. वह हंसने लगी और तुरंत उसकी कॉल आई. और हम बातें करने लगे. उसने मुझे कहा कि पति और मेरा बच्चा कल से गाँव गये हैं क्योंकि उसकी सास की तबीयत ठीक नहीं थी.

    मुझे कुछ कुछ समझ आ रहा था, मैंने उस दिन रात के ९ बजे उसके घर जाने की सोची. मैंने उसकी डोर बेल बजाई, उसने दरवाजा खोला और मुझे देख के उसके आंख में देखने लायक था. उसने पूछा तुम इस टाइम पर यहां कैसे? मैंने कहा क्यों नहीं आना चाहिए था? सॉरी.. उसने कहा ऐसी बात नहीं, मैं उसके सोफ़ा सेट पर बैठ गया उसने मुझे पानी ला कर दिया.

    और मुझे कहा कि जरा रुको मैं टेरेस पर जाकर आती हूं, सूखे हुए कपड़े लाने के लिए. जो मैं आज भूल गई. ५-१० मिनट हो गए वह नहीं आई, तो मैं टेरेस पर गया वहां कपड़े के टब में रख रही थी, टब वजन की वजह से काफी भारी हो गया था, तो मैंने वह उठाया और नीचे जाने लगा, तो अचानक लाइट चली गई. वह अह्ह्ह कर के हल्के से चिल्लाई, मैंने उसे कहा डोंट वरी मैं हूं. उसने मेरा हाथ पकड़ा और हम उसके होल में आए.. अंधेरा होने की वजह से कुछ दिखाई नहीं दे रहा था. वह टब मेरे हाथ में था तो नीचे रखते समय मैंने उसकी कमर को टच किया.. वह पीछे मुड़ी बस इतना उसे एहसास हुआ, यह मुझे पता चला. वह फिर से बोली काफी डर लग रहा है, मैंने उसे कहा डरो मत ऐसे कहते मैंने उसे हग किया.

    पहले उसकी टच की वजह से कुछ अजीब लगा, पर उसने मुझे जोर से पकड़ लिया मैंने उसे पूछा कि खाना खा लिया आपने? और उसने मुझे जोर से पकड़ लिया. उसने कहा नहीं मैंने उसे हग किया था और मेरा लंड उसकी गांड पर जा रहा था, अभी तक मैं समझ गया था कि आज की रात मेरी रात है. वह टाइम काफी सही था, मैंने उसे उठाया और दरवाजे की और उसे लेकर गया. उसने कहा क्या कर रहे हो? मैंने कहा अंधेरे में आपके पैर को कुछ लगेगा इसलिए.. और हमने वह हाल का दरवाजा बंद कर दिया, और लाइट आ गई. वह मेरी गोदी से नीचे उतरकर किचन की ओर चली गई, मैं उसके तुरंत पीछे गया और उसको पीछे से पकड़ लिया. उसने कहा सॉरी गलती हो गई, मैंने कहा क्या गलती? वह कुछ नहीं बोली. मैंने तुरंत कहा आई लव यू.

    उसके चेहरे की स्माइल देख कर पता चल गया, मैं वही उसे किस करने लगा और उसके बूब्स दबाने लगा, वह मेरा साथ देने लगी, हम बेडरूम की ओर गए मैंने उसकी ब्रा और पेंटी उतारी, बाद में मैंने उसके बूब्स चूसने लगा. थोड़ी देर बाद उसके पूरे शरीर को चूमने लगा. और मैं धीरे धीरे उसकी चूत के पास गया, उसने क्लीन शेव किया था, उसकी गुलाबी चूत मुझे बहुत अट्रेक्ट कर रही थी.

    बाद में मैंने उसकी चूत को स्पर्श किया, वह मचल उठी. उसकी चूत थोड़ी टाइट थी, लगता था कि उसके पति ने कंप्लीट चोदा नहीं था उसको.. बाद में मैं उसकी चूत चूसने लगा, वह मछली की तरह फडफडाने लगी, उसको बहुत मजा आ रहा था. क्योंकि उसकी चूत उसके पति ने कभी चूसी नही थी. थोड़ी देर चूत चूसने के बाद वह पूरा अकड़ गई और सारा पानी निकाल दिया. बाद में मैंने उसे अपने लंड को मुंह में लेने के लिए बोला, वह मना कर रही थी. क्योंकि उसने पहले नहीं किया था, वह राजी हो गई पर मेरा लंड मुंह में लेकर चूसने लगी मुझे बहुत मजा आ रहा था.

    थोड़ी देर बाद मेरा निकलने वाला था तो उसके मुंह पर डाल दिया, एक दूसरे को साफ किया. वह लंड के लिए तड़प रही थी, वह बोल रही थी कि अब मुझे चोद डालो, मैंने उसकी चूत में एक दो उंगली डाली, तो उसकी चूत थोड़ी टाइट थी. उससे बर्दाश्त नहीं हो रहा था, मैंने उसको घोड़ी बनाया और लंड चूत पर सेट किया, हलके मैंने उसको धक्का दिया, आधा लंड जाने के बाद वह चिल्ला रही थी, पूरा लंड उसकी चूत में समा गया और उसके बूब्स दबाने लगा. बाद में वह साथ देने लगी और चूदाई शुरू हो गई.

    वह थोड़ी देर बाद जड़ गई, अब हमने पोजीशन चेंज की और मैं उसके ऊपर आ गया, थोड़ी देर चूदाई के बाद मेरा भी निकलने वाला था, तो उसे पूछा तो उसने बताया कि अंदर ही डाल दो, मैं अब फुल स्पीड में उसकी चूदाई कर रहा था, दो तीन मिनट के बाद मेंने उसकी गरम गरम चूत में अपना सारा माल छोड़ दिया, और उसके ऊपर ही लेट गया. बाद में उसके बूब्स चूसने लगा, फिर हमने एक और राउंड चूदाई कि, वह बहुत ही खुश थी. बाद में हमने शावर लेते हुए एक दूसरे को नहलाया, हमने बहुत चूदाई की, वह मुझे हद से ज्यादा प्यार करने लगी, मैंने उसके साथ हर पोजीशन में सेक्स किया

    2016 Best Telugu Sex Stories
     
Loading...