दो चूत एक लंड और मस्ती अपरम्पार

Discussion in 'Hindi Sex Stories - हिंदी सेक्स कहानियाँ' started by SexStories, Sep 13, 2017.

  1. SexStories

    SexStories Active Member

    MyIndianSexStories

    दो चूत एक लंड और मस्ती अपरम्पार

    Do chut, ek lund aur masti aparampar:
    हेल्लो मेरे प्यारे दोस्तों कैसे भौंक रहा आजकल आपका लंड मस्त है ना ? तो बाबा लोग आज अपना प्रकट फिर से हो गये हैं आपके सामने ताकि आपको बता सकें कि अपनी लाइफ भी एक दम बिंदास बोले तो एक दम फाडू चल रही है | जी हाँ दोस्तों आज एक बार फिर आपका दोस्त आपका पुराना साथी गुड्डू हाज़िर है आपके सामने लेके अपनी एक नयी घटना जो की एक महीने पहले की है | मुझे नहीं लगता कि अब आपको मुझे अपने बारे में बताने की ज़रूरत पड़ेगी क्यूंकि मैंने कई बार आपके लये कहानी लिखी है और मुझे इस बात की बिलकुल फ़िक्र नहीं कि आप लोग मुझे भूल गये होंगे | मैंने कई बार अपने लंड को चूत का स्वाद दिया है पर आज की कहानी जो कि पिछले महीने घटित हुयी है मेरे साथ | इस बार में गांड का स्वाद लेना नहीं भुला और मेरे प्यारे से लंड ने उसे भी अपने गरम मुठ में भिगा दिया | वो गांड का मेरे लंड के घुसने पे तड़पना वो चूत के दाने को मसलके लड़की का पानी निकालना नहीं भूलूंगा मैं जब तक है रांड | मुझे अपनी कही हुयी बात पे पूरा भरोसा है क्यूंकि मैंने कभी किसीके साथ गलत नहीं किया और ना ही किसी को गलत तरीके से चोदा है | मैंने हर चीज़ की एक सीमा बना के रखी है और मैं उसके हिसाब से ही चलता हूँ | मैंने ना जाने कितनी लड़कियों की सूनी गोद भरी है और मैं हक से बाप बनने के लायक हो गया हूँ | तो सोतों आज जो कहानी मैं आपके सामने लेके आया हूँ ये कहानी है मेरी दोस्त टीना और उसकी बहन के बीच की | मैंने कभी उसके बारे में बुरा नहीं सोचा पर जब अगला खुद मुझसे चुदने के लिए तैयार है तब मैं क्यूँ पीछे रह जाऊं | बस यही सोचके मैंने ये कृत्य किया और मुझे बहुत ही शांति मिली की दोनों बहने मेरे लंड के नीचे से गुजरी | मैंने तो दोनों को एक साथ तक चोदा है और उनकी गांड और चूत की सील मैंने ही खोली है | अब वो दोनों मुझे तब तक चुदेंगी जब तक उनकी चूत का फट के भोसड़ा नहीं बन जाता | क्यूंकि मेरे लंड में वो तड है जानी जो अच्छे अच्छों की चूत में जाके अपना काम बखूब ही करके आता है इसलिए आओ मुझे चुदवाओ और एक सुक्षी संसार पाओ यही मेरा नारा है |

    तो अब आपको बताता हूँ कैसे मैंने अपनी उस दोस्त और उसकी बहन के साथ किया सम्भोग उर्फ़ सेक्स उर्फ़ चुदाई | टीना मेरी बचपन की दोस्त है पर उसके उसके पापा बाहर नौकरी करते हैं | इसलिए वो यहाँ बहुत कम आती थी और अब तो वो विदेश भी जा चुकी है | जब हम बचपन में दोस्त थे तब मैं उसकी चड्डी उतार के उसकी चूत को चाटा करता और वो मेरे लंड को पीती थी | ये हम बचपन का एक बहुत अच्छा खेल था और मुझे इसमें बड़ा आता था | हमारे घर के पास कई सारे खाली क्वार्टर थे तो हम लोग वहीँ जाके ये सब किया करते | किसी को पता नहीं चलता मैं उसके चूत के दाने को दबाता और उसको चाट चाट के लाल कर देता और वो मेरे लंड चूसती रहती | उस समय पता नहीं था मुट्ठ क्या होता हा चुदाई क्या होती है फिर भी लगे रहते थे | पर जैसे जैसे हम बड़े हुए तो हम समझदार होते गए और हमको सब पता चलने लगा | कभी वो मेरे पास आती और कभी मैं उसके पास जाता | पर मैं उसकी बस चूत को चाटने में मस्त रहता और वो मेरे लंड को चूसने में मस्त रहती | फिर धीरे धीरे मेरा लंड बड़ा हो गया और उसमे से मुठ भी निकलने लगा | वो दो साल बाद आई और मेरे घर आई उसी दिन शाम को मेरे घर आई | वो भी बड़ी और मस्त हो गयी थी और उसके दूध भी काफी बड़े हो गए थे | वो आई और उसने कहा चल न चूसने वाला खेल खेलते हैं | मैंने कहा चल पर इस बार पूरा नंगा होक खेलेंगे | उसने कहा ठीक है और वो नंगी हो गयी और मैं भी नंगा हो गया उसने कहा पहले मैं चूसूंगी | मैंने कहा ठीक है पहले तू करले और वो मेरे पास आई और उसने जैसे ही मेरा लंड मुह में लिया मेरा लंड खड़ा हो गया | उसने कहा बापरे इतना बड़ा हो गया तेरा लंड और फिर चोसने लगी | मेरे मुह से आआहाआह ऊउन्न् आहाहाह ऊउम्म्म ऊनंह अआहा आअह्ह्हाअ अहहहः अहहाआअ ऊउन्न ऊउम्म्ह आआनाहा ऊउन्न्ह ऊम्म्ह आहाहाहा ऊनंह ऊउम्ह आहाहहा ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह अहहहः आआहाआह ऊउन्न् आहाहाह ऊउम्म्म ऊनंह अआहा आअह्ह्हाअ अहहहः अहहाआअ ऊउन्न ऊउम्म्ह आआनाहा ऊउन्न्ह ऊम्म्ह आहाहाहा ऊनंह ऊउम्ह आहाहहा ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह अहहहः निकलने लगा और पांच मिनट बाद मैंने उसके मुह में अपना माल गिरा दिया |

    उसने मेरा माल बाहर थूका और कहा क्या हो गया है तेरे लंड को क्या निकला इससे ? मैंने कहा इसे मुट्ठ कहते है और इसी से बच्चे पैदा होते हैं | फिर उसने कहा चल ठीक है मुझे और चूसना है अभी मेरा मन नहीं भरा | मैंने कहा जब तक करना है करले | उसने तीन घंटे तक मेरा लंड चूसा और 5 बार मेरा मुठ निकाला और मैं बस आआहाआह ऊउन्न् आहाहाह ऊउम्म्म ऊनंह अआहा आअह्ह्हाअ अहहहः अहहाआअ ऊउन्न ऊउम्म्ह आआनाहा ऊउन्न्ह ऊम्म्ह आहाहाहा ऊनंह ऊउम्ह आहाहहा ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह अहहहः आआहाआह ऊउन्न् आहाहाह ऊउम्म्म ऊनंह अआहा आअह्ह्हाअ अहहहः अहहाआअ ऊउन्न ऊउम्म्ह आआनाहा ऊउन्न्ह ऊम्म्ह आहाहाहा ऊनंह ऊउम्ह आहाहहा ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह अहहहः ही करता रह गया | फिर उसने कहा चल अब तू कर और पहले मैंने उसके दूध पिए और उसके बदन का हर हिस्स चाटा | उसके बाद मैंने कहा चल अब तेरी चूत को चाटना शुरू करता हूँ | मैंने जैसे ही उसकी चूत पे मुह लगाया वो सिस्कारियां भरने लगी | जैसे ही मैंने उसकी चूत के दाने पे चाटना शुरू किया वो आआहाआह ऊउन्न् आहाहाह ऊउम्म्म ऊनंह अआहा आअह्ह्हाअ अहहहः अहहाआअ ऊउन्न ऊउम्म्ह आआनाहा ऊउन्न्ह ऊम्म्ह आहाहाहा ऊनंह ऊउम्ह आहाहहा ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह अहहहः आआहाआह ऊउन्न् आहाहाह ऊउम्म्म ऊनंह अआहा आअह्ह्हाअ अहहहः अहहाआअ ऊउन्न ऊउम्म्ह आआनाहा ऊउन्न्ह ऊम्म्ह आहाहाहा ऊनंह ऊउम्ह आहाहहा ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह अहहहः करने लगी | थोड़ी देर बाद मुझे लगा वो झड़ने वाली और उसने अपना सफ़ेद सफ़ेद माल मेरे मुह पे गिरा दिया | मुझे भी बहुत अजीब सा लगने लगा पर मैंने उसकी चूत को खूब चाटा और उसको इतना झड़ा दिया कि वो थक के गिर गयी | पूरे कमरे में बस आआहाआह ऊउन्न् आहाहाह ऊउम्म्म ऊनंह अआहा आअह्ह्हाअ अहहहः अहहाआअ ऊउन्न ऊउम्म्ह आआनाहा ऊउन्न्ह ऊम्म्ह आहाहाहा ऊनंह ऊउम्ह आहाहहा ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह अहहहः आआहाआह ऊउन्न् आहाहाह ऊउम्म्म ऊनंह अआहा आअह्ह्हाअ अहहहः अहहाआअ ऊउन्न ऊउम्म्ह आआनाहा ऊउन्न्ह ऊम्म्ह आहाहाहा ऊनंह ऊउम्ह आहाहहा ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह अहहहः ही भर रही थी | अब हम दोनों गले लग गए और कहने लगे कितने बड़े हो गए हैं हम काश हम एक साथ रह पाए कभी | उसने कहा बस दो साल रुक जा मैं विदेश से आ जाउंगी तब शादी कर लेना मुझसे | मैंने कहा अभी कितने दिनों के लिए आई है तो उसने कहा अभी तो बस चार दिनों के लिए आई हूँ और पापा बड़े खुश हैं तुझे क्यूंकि तू ऑफिसर जो बन गया है |

    अब अगले दिन मैंने सोचा चलो चुदाई के बारे में कुछ पढ़ा जाए और जैसे ही मैंने नेट पे देखा तो मेरे होश उड़ गए | लंड को चूत में घुसाते हैं और मैं उसे और मज़े से पढने लगा | उतने में वो भी आ गयी और कहा यार लंड को चूत में डालते है | मैंने उसे देखा और अपना फोन दिखाया तो उसने कहा मतलब तू भी यही पढ़ रहा था क्या ? मैंने कहा हाँ !!! उसने कहा चल टाइम बर्बाद मत कर जल्दी से डाल मेरी चोट में मुझे मह्सोश करना है | मैंने कहा मैंने कभी किया नहीं है ऐसा तो उसने कहा हाँ मैं तो रंडी हूँ न जैसे | उसने मेरा पेंट खोला और लंड चूस के खड़ा कर दिया | अब वो अपनी चूत खोल के लेट गयी और मैंने जैसे तैसे वीडियो देख के उसके छेड़ पे लंड रखा और पेल दिया | वो रो पड़ी और चिल्लाने लगी और मैं जोर जोर जोर से चोदने लगा और आआहाआह ऊउन्न् आहाहाह ऊउम्म्म ऊनंह अआहा आअह्ह्हाअ अहहहः अहहाआअ ऊउन्न ऊउम्म्ह आआनाहा ऊउन्न्ह ऊम्म्ह आहाहाहा ऊनंह ऊउम्ह आहाहहा ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह अहहहः आआहाआह ऊउन्न् आहाहाह ऊउम्म्म ऊनंह अआहा आअह्ह्हाअ अहहहः अहहाआअ ऊउन्न ऊउम्म्ह आआनाहा ऊउन्न्ह ऊम्म्ह आहाहाहा ऊनंह ऊउम्ह आहाहहा ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह अहहहः करने लगा | अब वो भी शांत हो गयी और मस्ती में चुदवाने लगी | पर हमे उसकी बहन ने देख लिया उसने अपनी बहन को भी मुझसे चुदवा दिया और कहा यही लंड बेस्ट है | पर उसकी बहन को मैंने बेमन से चोदा क्यूंकि प्यार मैं उसी को करता था | पर उसने खुद ही चुदवा दिया तो मैंने भी सोचा चलो ठीक है आज कर लिया आगे नहीं करूँगा | फिर मेरी चुदाई के बाद टीना मान बन गयी और मेरी शादी हो गयी पर अभी वो विदेश में है और अगले महीने फिर आ रही है |

    loading...

    2016 Best Telugu Sex Stories
     
Loading...