दूध तेरा सुहाना गांड तेरी मस्तानी

Discussion in 'Hindi Sex Stories - हिंदी सेक्स कहानियाँ' started by SexStories, Sep 10, 2017.

  1. SexStories

    SexStories Active Member

    MyIndianSexStories

    दूध तेरा सुहाना गांड तेरी मस्तानी

    Doodh tera suhana gaand teri mastani :

    हैल्लो फ्रेंड्स, मेरा नाम सौरभ है और मैं कानपुर का रहने वाला हूँ | मेरी उम्र 21 साल है और मैं कॉलेज स्टूडेंट हूँ | मैं दिखने मिने अच्छा हूँ और पर्सनालिटी भी अच्छी है | मेरी हाईट 5 फुट 8 इंच है और मैं जिम भी जाता हूँ | मेरे घर में मैं और मम्मी - पापा हैं | मेरे पापा और मम्मी दोनों ही स्कूल टीचर हैं | आज जो मैं आप लोगो को कहानी बताने जा रहा हूँ मैं उम्मीद करता हूँ कि आप लोगो को पसन्द आयगी | हालाँकि ये मेरी पहली कहानी है तो हो सकता है इसमें कुछ कमिया निकल जाये | तो अब मै आप लोगो के कीमती समय को बचाते हुए अपनी कहानी शुरू करता हूँ |
    ये घटना अभी कुछ दिन पहले कि है | मैं कॉलेज में तो हूँ पर सिर्फ पेपर देने ही कॉलेज जाता हूँ | मेरा बाकि समय घर पर ही कटता है | मेरी कोई गर्लफ्रेंड नहीं है इसलिए मैं खाली समय में या तो पढ़ता रहता हूँ या ब्लू फिल्म देख के अपनी अन्दर की गर्मी को बाहर निकलाता हूँ | मैं रोज सुबह जिम जाता हूँ और जब भी मैं जिम से लौट कर घर आता हूँ तो एक लड़की जो कि मेरे घर के बगल में रहती है | वो मुझे देखा करती थी | खैर मैं उससे बात नहीं करता था क्यूंकि मुझे घमंडी लगती थी | मैं रोज जिम से लौट कर उसे देखता तो वो मुझे रोज अपनी बालकनी में शॉर्ट्स पहने हुए देखती | वैसे उसका नाम अंतरा है और वो भी मेरे ही कॉलेज में है | वो भी सिर्फ पेपर के ही टाइम पर जाती है क्यूंकि मैं घर में रहता हूँ तो जानकारी है थोड़ी बहुत | दिखने की बात की जाये तो वो दिखने में एक दम पंजाबी पटोला लगती है | उसके दूध काफ़ी भरे हैं और गांड तो मस्त गोल मटोल और उठी हुई है | एक दिन की बात है मैं जिम से लौट रहा था और वो भी रोज की तरह बालकनी में खड़े हो कर मुझे देखने लगी | देखते देखते उसने मुस्कुरा दिया | मैंने भी एक आँख मार दी | उसने भी जवाब में कहा कि छत पर आओ | हम दोनों का घर एक दूसरे के घर से सटा हुआ है | तो मैंने उसे इशारे से कहा कि नहीं अभी नहीं मम्मी पापा को निकलना है और 8 बजे का टाइम बोल दिया | उसने भी ओके में रिप्लाई कर दिया |
    जब मेरे मम्मी और पापा दोनों स्कूल के निकल गए तब मैं अंडे खाते हुए छत पर गया | उसका वेट करने लगा | पर मेरे अंडे खत्म हो गए और 8 से 8:20 हो गए पर वो नहीं आई | तो मैं नीचे जाने लगा | तभी सौरभ कर के आवाज़ आई | फिर मैं वापस गया और उससे कहा कि इतना टाइम क्यू लगा दिया ? तो उसने कहा कि अरे नाश्ता बना रही थी | फिर मैंने उससे पूछा कि तुम रोज सुबह मुझे देखती क्यू हो ? तो उसने कहा कि मुझे तुम्हारी पर्सनालिटी बहुत अच्छी लगती है | तो मैंने कहा कि इसमें नयी बात क्या है ? सभी को अच्छी लगती है | उसने कहा कि यार मेरा वो मतलब नहीं है | तो मैंने पूछा कि क्या मतलब है फिर तुम्हारा ? उम्म्म मैं तुम्हे पसंद करती हूँ | मैं एक दम चौंक गया और कहा व्हाट ? आर यू सीरियस ? तो उसने मेरा हाँथ पकड़ लिया और कहा हाँ सौरभ मैं सच में तुम्हे पसंद करती हूँ | फिर मैंने पूछा कि इतने दिनो तक मुझसे कभी बात क्यू नहीं की ? और कॉलेज भी हमारा सेम है फिर भी कभी कॉलेज में बात नहीं की क्यू ? तब उसने बताया कि उसका भाई भी वहां पढता है और वो थोडा पोकू टाइप का है | इसलिए मैं तुमसे बात नहीं कर पाई कभी और एक बात और है कि तुम मुझे बहुत खडूस लगते थे ये भी वजह है | तो मैंने कि अच्छा और फिर पूछा कि तुम्हारा भाई स्कूल में पढता है और तुम कॉलेज का बहाना क्यू बना रही हो ? तो उसने कहा कि अरे मेरा ये भाई नहीं मेरे चाचा का बेटा है वो |
    फिर मैंने कहा ओके | पर मैं तुमसे एक बात कहना चाहता हूँ | उसने कहा हम्म ! बात ये है कि मैं थोडा सेक्सुअल टाइप का लड़का हूँ | और मैं तुम्हारे साथ रिलेशन में रहा तो मैं सेक्स करूँगा जरुर तुम्हारे साथ | बोलो मंजूर है ? तो उसने कहा कि ठीक है पर एक बात याद रखना अगर सेक्स के बाद तुमने मुझे छोड़ा तो मैं तुम्हारी वाट लगा दूंगी | तो मैंने भी कहा ठीक है अगर तूने मुझे छोड़ा तो मैं तुझे मार डालूँगा | अब हम दोनों रोज छत पर ऐसे ही बात करते थे | सबसे अच्छी बात ये थी कि हमारी कालोनी में सिर्फ मेरा और उसका घर तीन मंजिला है और बाकि सबके दो या सिंगल ही है | इस चीज़ का हमे बहुत फायदा मिलता था | एक दिन कि बात है दोस्तों, मैं घर में ब्लू फिल्म लगा कर मुठ मार रहा था | मैं पूरा नंगा हो कर ही मुठ मारता हूँ | तभी अंतरा पीछे से आ गयी और कहा कि क्या कर रहे हो ? तो मैं उसके सामने ऐसे ही नंगा खड़ा हो गए और उसे पूछा कि तुम अचानक यहाँ कैसे ? तो उसने जवाब दिया कि मम्मी रिश्तेदार के घर गयी हैं और पापा ऑफिस और भाई स्कूल | और महाशय तुम बात बताओ क्या कर रहे हो ? तो मैंने कहा कि देख लो मुठ मार रहा हूँ | तो उसने कहा कि तुम्हारा लंड तो काफ़ी मस्त है तो तुम चूत क्यू नही मारते मुठ मार के काम चला रहे हो | और वो अपने कपड़े उतराने लगी |
    शायद वो मुझे ऐसे देख कर गरम हो गयी होगी इसलिए वो भी चुदना चाहती थी | वो मेरे पास सेक्सी अंदाज में आई और मेरे होंठ में अपने होंठ रख दिए और मेरे होंठ को चूसते हुए मेरे लंड को हाँथ में ले कर हिलाने लगी |मुझे उसका ये अंदाज पसंद आया और मैं भी उसका साथ देते हुए उसे किस करने लगा और उसके बड़े बड़े दूध को मसलने लगा | किस करने के बाद वो मेरे लंड को हिलाते हुए नीचे घुटने टेक कर मेरे लंड को चाटने लगी | जब वो मेरे लंड को चूसने लगी तो मेरे मुंह से आआहाआ ऊऊन्न्ह ऊऊम्म्ह ऊउम्म ऊउन्न्ह अहहाआअहाअ अहहहा हहहाआअ अहहहाआ ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह ऊनंह ऊउम्म्म्ह अहहहाआआअ आहाआआउन्ह ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह आहा आआआहा ऊउम्म्ह ऊउन्न्ह आअहाआअ की सिस्कारिया निकलने लगी | फिर उसने मेरे लंड को अपने मुंह में डाल लो और आगे पीछे करते हुए चूसने लगी | मै भी आआहाआ ऊऊन्न्ह ऊऊम्म्ह ऊउम्म ऊउन्न्ह अहहाआअहाअ अहहहा हहहाआअ अहहहाआ ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह ऊनंह ऊउम्म्म्ह अहहहाआआअ आहाआआउन्ह ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह आहा आआआहा ऊउम्म्ह ऊउन्न्ह आअहाआअ करते हुए उसके सिर के बाल को सहलाने लगा | मेरे लंड को जब उसने चूस चूस कर एक दम लोहे की रॉड कि तरह सख्त कर दिया तो मैंने उसके बड़े बड़े दूध को अपने मुंह में ले कर चूसने लगा और उसके निप्पलस को अपने होंठ से दबा कर खींच खींच कर चूसने लगा | वो आआहाआ ऊऊन्न्ह ऊऊम्म्ह ऊउम्म ऊउन्न्ह अहहाआअहाअ अहहहा हहहाआअ अहहहाआ ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह ऊनंह ऊउम्म्म्ह अहहहाआआअ आहाआआउन्ह ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह आहा आआआहा ऊउम्म्ह ऊउन्न्ह आअहाआअ करते हुए मेरे लंड को हिला रही थी |
    फिर उसके बाद मैं उसे गोद में उठा कर अपने बेड पर ले गया | अब मैं उसकी चिकनी चूत पर अपनी जीभ रखते हुए चाटने लगा वो भी आआहाआ ऊऊन्न्ह ऊऊम्म्ह ऊउम्म ऊउन्न्ह अहहाआअहाअ अहहहा हहहाआअ अहहहाआ ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह ऊनंह ऊउम्म्म्ह अहहहाआआअ आहाआआउन्ह ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह आहा आआआहा ऊउम्म्ह ऊउन्न्ह आअहाआअ करते हुए सिस्कारिया लेने लगी | मैं उसकी चूत में अपनी ऊँगली डाल कर चोद रहा था और जीभ से चाट रहा था और भी आआहाआ ऊऊन्न्ह ऊऊम्म्ह ऊउम्म ऊउन्न्ह अहहाआअहाअ अहहहा हहहाआअ अहहहाआ ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह ऊनंह ऊउम्म्म्ह अहहहाआआअ आहाआआउन्ह ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह आहा आआआहा ऊउम्म्ह ऊउन्न्ह आअहाआअ करते हुए मेरे सिर को अपनी चूत पर दबाने लगी |
    फिर उसने कहा कि यार बस भी करो अब चोद भी दो न | फिर मैंने उसकी दोनों टांगो को उठाया और अपने कंधे पर रख लिया | अब मैं उसकी चूत पर अपना लंड टिका कर उसकी चूत में डाल दिया | अब मैं उसकी चूत को जोर जोर से चोदने लगा और वो भी आआहाआ ऊऊन्न्ह ऊऊम्म्ह ऊउम्म ऊउन्न्ह अहहाआअहाअ अहहहा हहहाआअ अहहहाआ ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह ऊनंह ऊउम्म्म्ह अहहहाआआअ आहाआआउन्ह ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह आहा आआआहा ऊउम्म्ह ऊउन्न्ह आअहाआअ करते हुए अपनी गांड उठा उठा कर चुदवा रही थी | अब उसने अपनी टाँगे मेरी कमर में बाँध दी और मै भी उसके ऊपर लेट कर उसके दूध को मुंह में ले कर चूसने लगा और जोर जोर से चोदने लगा और वो आआहाआ ऊऊन्न्ह ऊऊम्म्ह ऊउम्म ऊउन्न्ह अहहाआअहाअ अहहहा हहहाआअ अहहहाआ ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह ऊनंह ऊउम्म्म्ह अहहहाआआअ आहाआआउन्ह ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह आहा आआआहा ऊउम्म्ह ऊउन्न्ह आअहाआअ करते हुए सिस्कारिया लेने लगी | करीब आधे घंटे की चुदाई के बाद मैंने उसके मुंह के ऊपर अपना माल झड़ा दिया |

    2016 Best Telugu Sex Stories
     
Loading...